Category

motivational

Category

जब भी आप अकेलापन महसूस करते हो तो इसका अर्थ यह है कि आप अपने लक्ष्य से दूर हो रहे हो और नकारात्मक बातों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हो इसका एक ही उपाय है कि आप लगातार अपने लक्ष्य की ओर बढ़ें और उस पॉइंट पर ध्यान दें जिस की वजह से असफलता प्राप्त हुई है और आपको बुरा महसूस हो रहा है सफलता प्राप्त करने का बस यही एक उपाय है |

जो काम आज करना है उसे आज ही समाप्त करो उसे कल पर मत टालो यदि आप आज के काम को आज ही समाप्त करते हैं तो आप को अत्यधिक खुशी होगी ,और चैन की नींद आएगी क्युकी आपने जो काम जरुरी है आज ही समाप्त कर लिया है इसलिए चिंता करने की कोई आवस्यकता नहीं

-जिस प्रकार एक छोटे से बच्चे का इनपुट हमारे ऊपर निर्भर करता है कि हमें उसे कैसी सीख देनी है जैसी शिख्या हम उसे देंगे और जैसे वातावरण में रखेंगे वह वैसा ही बन जायेगा ठीक उसी प्रकार नकारात्मक और सकारात्मक सोच हमारी सोच पर निर्भर करती है कि हम उसे कैसे गहन कर रहे हैं एक व्यक्ति जो नकरात्मक बातों में भी सकारात्मक बिंदु खोजता है और सफलता प्राप्त कर लेता है ठीक उसी प्रकार एक नकारात्मक सोच वाला व्यक्ति जो सकारत्मक बातों में भी नकारात्मक बिंदु खोजता है और असफलता प्राप्त करता है

सफलता प्राप्त करने का एक ही उपाय है अपने दिमाग पर नियंत्रण और सही जगह पर फोकस , बिना कहीं की बात सोचे यदि आप अपने दिल और दिमाग पर नियंत्रण करके सही जगह पर फोकस करते हो तो सफलता तुम्हें अवस्य मिलेगी जो आप चाहते हो
जल्दबाजी करने से कुछ हांसिल नहीं होता धीरे-२ से सही जगह पर फोकस करने से और समय देकर,संघर्ष करने से एक न एक दिन सफलता अवश्य मिलती है

अधिकतर लोगों को संघर्ष करते असफलता हाथ लगती रहती है तो वही लोग बीच में ही संघर्ष करना छोड़ देते बिना कुछ सोचे समझे लेकिन उनको यह नहीं पता होता है अंतिम बार किया गया प्रयास उनको सफलता प्राप्त करा सकता है और उनको अपने जीवन भर पछताना न पड़ता ,इसलिए समझदारी इसी में है कि कोई भी काम कर रहे हो जिस पर आपका सम्पूर्ण भविष्य टिका हुआ है अंतिम समय तक प्रयास करना चाहिए

कभी भी एक पल बेकार न जानें देना चाहिए ,जैसे मैदान में दौड़ता हुआ धावक एक सेकंड देर होने पर मैदान में हार जाता है ठीक उसी प्रकार आपके द्वारा बर्बाद किया गया एक पल आपको आपके क्षेत्र में हरा सकता है इसीलिए हर एक पल को महत्वपूर्ण समझे और उस पल में बिना कुछ सोचे मेहनत करें

आप आज क्या हो और कहाँ हो यह बात आपके बीते हुए कल पर निर्भर करती है लेकिन, आप कल क्या होंगे कहाँ होंगे यह आपके वर्तमान पर निर्भर करता है इसलिए भूत और भविष्य काल पर ध्यान नहीं देना चाहिए बल्कि, बिना किसी की बात के चिंता करते हुए  अपने वर्तमान में मेहनत करनी चाहिए जो आप चाह रहे हो भविस्य |

दिल में अभी कुछ अरमान बाकी हैं,
ना जाने कितने इम्तिहान बाकी हैं।
अभी तो नापी है मुट्ठी भर जमीन हमने,
अभी तो सारा आसमान बाकी है।।

Pin It