Category

Inspirational

Category

साहेंब कुछ वक़्त खामोश हो के देखा लोग सच में भूल जाते हैं

उसने मुझे दिल से निकाला मुझे ये आज याद आया……

वो मेरे शहर में होती तो मुमकिन था इत्तेफाक से मिल जाते कभी,
बिछड़ कर किस शहर बसी है ये खबर भी नही,

रात के अंधेरे में तो हर कोई किसी को याद कर लेता है

सुबह उठते ही जिसकी याद आए मुहब्बत उसे कहते हैं।।

प्यास है या इक आग है, तेरी यादों का दर्द मेरी रूह को नही छोड़ता

मुहब्बत थी, मुहब्बत है, ये दिल तुमसे मुहब्बत करना नही छोड़ता।

गुनाह करने को अंधेरा नहीं होता काफी !

गुनाह करनें को कलेजा भी होना चाहिये !!

समय हर समय को बदल देता है

बस समय को थोड़ा समय चाहिए

मुझको मयस्सर हो तेरे लब की शराब ,
मैं उसको पी के हमेशा ही झूमता रहूँगा !!

कभी तो आ मेरे घर में, एे हुस्न ए मलिका,
मैं कब तलक तेरी तस्वीर चूमता रहूँगा !!

कभी बेसुमार खुशियों से जोड़ देती है,
कभी गर्दिशों में साथ छोड़ देती है।
कौन नहीं चाहता अच्छे दोस्तों का साथ,
मगर नए रिश्तों की भीड़ में दोस्ती दम तोड़ देती है।।

दोस्ती एक आज़ाद एहसास है कब किसे कहाँ मिल जाये कोई नहीं जनता, कब दिल में अपना घर बना लेती है पता ही नहीं चलता। जो प्यार और ख़ुशी दोस्ती से मिलता है वो किसी और रिश्ते से नहीं मिलता और किसी भी चीज की मोहताज नहीं होती न जाती न धर्म न ऊँच न नीच। लेकिन कभी कभी दोस्ती में ऐसी दीवार खड़ी हो जाती है जिसको तोडना नामुमकिन सा हो जाता है जब लोग स्वार्थी हो जाते हैं और जरुरत से ज्यादा उम्मीद करने लगते हैं तो दोस्ती अपना अस्तित्वा ख़त्म कर देती है और दिलों में कुछ अच्छी याद छोड़ जाती है। अपने कुछ ऐसे निशान छोड़ जाती है जिनको मिटना सम्भब नहीं है दोस्ती का ब्रेकअप प्यार से भी ज्यादा कड़वा होता है। में चाहकर भी अपने सबसे अच्छे दोस्त को भूल नहीं सकता बहुत कोसिस करता हूँ की सब ख़त्म हो चूका है लेकिन चाहकर भी उस कड़बे सच को स्वीकार नहीं कर पा रहा हूँ। जब वो मेरा साथ था तो ऐसा लगता था कि में एक नहीं हूँ दो हूँ मेरा एक हिस्सा उसमे है, जब भी उसके साथ होता था तो किसी और चीज की जरुरत ही नहीं होती थी न जाने कितनी मेरी ऐसी मुसीबतों को झेला जो शायद वही कर सकता था कोई और नहीं अगर मेरे दर्द में सबसे ज्यादा कोई रोया है तो वो मेरा दोस्त ही है कोई और नहीं। मेरी हर एक परेशानी को उसने अपना बना लिया था ये कह कर कि तेरे हर ख़ुशी और गम में मेरा हिस्सा है उसने मुझे अपनी हर ख़ुशी देदी थी ये कह कर कि ये ख़ुशी क्या जिंदगी देने की जरुरत पड़ी तो में खुद को खुसनसीब समझूंगा, में शब्दों में बयां नहीं कर सकता जो मुझे उससे मिला वो शायद मुझे कोई और नहीं दे सकता। इस दुनियाँ में कौन किसके के लिए २४ घंटे भूखा रहकर मंदिर जाके ख़ुशी और कामयाबी के लिए दुआ मांगता है शायद मेरे अच्छे कर्मों का फल था जो मुझे ऐसा इंसान मिला किस्मत वालों को ही ऐसे दोस्त नसीब होते हैं, में सबकुछ खोने को तैयार था उसके लिए कोई भी कीमत चुकाने को तैयार था क्यों कि मुझे उसके बिना जीना ही नहीं आता। मगर मेरी किस्मत में शायद उसका थोड़ा सा ही साथ लिखा था शायद उतने ही पल उसके साथ जीने को मिले थे। गलती किसी की नहीं थी बस सब कुछ ख़त्म ही होना था हम दोनों न चाहते हुए भी एक दिन जिंदगी के ऐसे मोड़ पै जाके खड़े हो गए जहाँ से दोनों के रास्ते अलग थे इस दोस्ती के ब्रेकअप ने हम दोनों को तोड़ दिया था और इतना दर्द और तकलीफ हुई थी कि ऐसा लगता था की जिंदगी ही ख़त्म हो गई है वो बहुत ही दर्दनाक हादसा था जिसे हम आज तक स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं में आज भी अक्सर उसकी यादों से लिपट कर रातों को रोटा हूँ

जिसके आँचल की छाया में बचपन मेरा बीता है,
जिसकी उंगली पकड़ पकड़ कर चलना मैने सीखा है।

जिसने मुझको शिक्षा दी हर बुरे काम से बचने की,
जिसने राह दिखाई मुझको सही मार्ग पै चलने की।

जिसने मुझे सिखाया हर एक मुश्किल से टकराना,
मुश्किलें चाहे कितनी भी हों न मुश्किलों से घबराना।

सारी खुशियाँ दी मुझको सारे जहां से लाकर,
धन्य हुआ मेरा जीवन ऐसी माँ को पाकर।

में दुआ करता हूँ मेरी जिंदगी में ऐसा मुकाम आये,
मेरी जिंदगी का हर एक पल तेरे कुछ काम आये।

मेरे पास शब्द नहीं हैं तेरा शुक्रिया अदा करने के लिए, में हमेसा तेरा आभारी रहूंगा क्यों कि जो मुझे तूने दिया वो कोई और नहीं दे सकता। सर्मिन्दा हूँ कि तेरा बीटा होने का फर्ज अदा नहीं कर पा रहा हूँ कागज के टुकड़े कमाने में लगा हूँ ताकि अपनी जरूरतें पूरा कर सकूं और अपने लिए एक बेहतर मुकाम बना सकूं। मुझे याद हैं वो दिन जब मुझे जरा सा बुखार होता था तो तू पूरी रात नहीं होती थी मुझे परेशान देखकर तेरी भूख प्यार भाग जाती थी। ठण्ड की रातों में अपना बिस्तर छोड़कर कर मुझे बार बार देखना कि में ठीक से ओढ़कर सोया कि नहीं। तेरे नरम हाथों से मेरे चेहरे को सहलाना, हजारो लाखों बार तेरे होठों का मेरे चेहरे को प्यार से चूमना आज भी महसूस करता हूँ। मुझे बोर्ड एग्जाम में पास हो जाने के लये तेरा भगवन से दुआ मांगना पास हो जाने पर प्रसाद बाँटना में कभी नहीं भूल सकता। मेरी कामयाबी के लिए 24 घंटे भूखा रहकर मंदिर जाकर मन्नतें मांगना तेरे ये कर्ज में अपनी जिंदगी देकर भी नहीं चूका सकता। आज तेरे एक सबल का जबाब देना चाहता हूँ में जब भी घर से शहर अपने काम पै जाता हूँ तब तू मुझे घर की दहलीज तक छोड़ने आती है और मुझे तब तक देखती रहती है जब तक में तेरी आँखों से ओजल नहीं हो जाता और में पीछे मुड़कर नहीं देखता तूने ये सबल कई बार पूंछा है कि में पीछे मुड़कर क्यों नहीं देखता, में पीछे मुड़कर इसलिए नहीं देखता क्यों कि उस समय तेरी आँखों में आंशूं होते हैं और मेरी आंखें भी नाम होती हैं में अपने आंशूं तो छिपा सकता हूँ पर तेरी आँखों में आंशूं नहीं देख सकता, तेरी आँखों में आंशूं में बर्दास्त नहीं कर सकता।

जब भी आप अकेलापन महसूस करते हो तो इसका अर्थ यह है कि आप अपने लक्ष्य से दूर हो रहे हो और नकारात्मक बातों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हो इसका एक ही उपाय है कि आप लगातार अपने लक्ष्य की ओर बढ़ें और उस पॉइंट पर ध्यान दें जिस की वजह से असफलता प्राप्त हुई है और आपको बुरा महसूस हो रहा है सफलता प्राप्त करने का बस यही एक उपाय है |

जो काम आज करना है उसे आज ही समाप्त करो उसे कल पर मत टालो यदि आप आज के काम को आज ही समाप्त करते हैं तो आप को अत्यधिक खुशी होगी ,और चैन की नींद आएगी क्युकी आपने जो काम जरुरी है आज ही समाप्त कर लिया है इसलिए चिंता करने की कोई आवस्यकता नहीं

-जिस प्रकार एक छोटे से बच्चे का इनपुट हमारे ऊपर निर्भर करता है कि हमें उसे कैसी सीख देनी है जैसी शिख्या हम उसे देंगे और जैसे वातावरण में रखेंगे वह वैसा ही बन जायेगा ठीक उसी प्रकार नकारात्मक और सकारात्मक सोच हमारी सोच पर निर्भर करती है कि हम उसे कैसे गहन कर रहे हैं एक व्यक्ति जो नकरात्मक बातों में भी सकारात्मक बिंदु खोजता है और सफलता प्राप्त कर लेता है ठीक उसी प्रकार एक नकारात्मक सोच वाला व्यक्ति जो सकारत्मक बातों में भी नकारात्मक बिंदु खोजता है और असफलता प्राप्त करता है

सफलता प्राप्त करने का एक ही उपाय है अपने दिमाग पर नियंत्रण और सही जगह पर फोकस , बिना कहीं की बात सोचे यदि आप अपने दिल और दिमाग पर नियंत्रण करके सही जगह पर फोकस करते हो तो सफलता तुम्हें अवस्य मिलेगी जो आप चाहते हो
जल्दबाजी करने से कुछ हांसिल नहीं होता धीरे-२ से सही जगह पर फोकस करने से और समय देकर,संघर्ष करने से एक न एक दिन सफलता अवश्य मिलती है

अधिकतर लोगों को संघर्ष करते असफलता हाथ लगती रहती है तो वही लोग बीच में ही संघर्ष करना छोड़ देते बिना कुछ सोचे समझे लेकिन उनको यह नहीं पता होता है अंतिम बार किया गया प्रयास उनको सफलता प्राप्त करा सकता है और उनको अपने जीवन भर पछताना न पड़ता ,इसलिए समझदारी इसी में है कि कोई भी काम कर रहे हो जिस पर आपका सम्पूर्ण भविष्य टिका हुआ है अंतिम समय तक प्रयास करना चाहिए

कभी भी एक पल बेकार न जानें देना चाहिए ,जैसे मैदान में दौड़ता हुआ धावक एक सेकंड देर होने पर मैदान में हार जाता है ठीक उसी प्रकार आपके द्वारा बर्बाद किया गया एक पल आपको आपके क्षेत्र में हरा सकता है इसीलिए हर एक पल को महत्वपूर्ण समझे और उस पल में बिना कुछ सोचे मेहनत करें

आप आज क्या हो और कहाँ हो यह बात आपके बीते हुए कल पर निर्भर करती है लेकिन, आप कल क्या होंगे कहाँ होंगे यह आपके वर्तमान पर निर्भर करता है इसलिए भूत और भविष्य काल पर ध्यान नहीं देना चाहिए बल्कि, बिना किसी की बात के चिंता करते हुए  अपने वर्तमान में मेहनत करनी चाहिए जो आप चाह रहे हो भविस्य |

Pin It