अक्सर लोग रिस्क का नाम सुनकर भागने लगते हैं क्यों कि उनके अंदर रिस्क लेने की हिम्मत नहीं होती। वास्तव में गलती उनकी नहीं है, ये कायरता उनके दिमाक में ढूंस ढूंस के भरी गई है उनके स्कूल, कॉलेज, परिवार, सोसाइटी और फ्रेंड्स सर्किल सब ने सिर्फ एक भी बात सिखाई है कि रिस्क मत लेना। हमारे माहौल ने हमें सिर्फ रिस्क से होने वाले नुकसान के बारे में बताया है कि अगर रिस्क लिया तो जिंदगी बर्बाद हो सकती है, ये हो सकता है, वो हो सकता है बगैराबगैरा।

अगर यही सोच कर Thomas Alva Edison ने बजली का बल्ब बनाने का रिस्क नहीं लिया होता तो आज आप अँधेरे में जी रहे होते,

Alexander Graham Bell ने टेलीफोन बनाने का रिस्क नहीं लिया होता तो आज भी आपके Massages हफ़्तों में पहुँच रहे होते,

Charles Babbage ने कंप्यूटर बनाने का रिस्क नहीं लिया होता तो आज भी घंटों का काम सलों में हो रहा होता,

Tim Berners-Lee ने इंटरनेट बनाने का रिस्क नहीं लिया होता तो सोचो आज आप घर बैठे कुछ भी कर लेते हो तो क्या ये सब पॉसिबल हो पता।

सोचो आज हम जिनका नाम ले रहे हैं उनको बच्चा बच्चा जनता है क्यों ? क्यों कि उन्होंने रिस्क लिया और नाम बनते हैं रिस्क से।

में पुरे यकीन के साथ कह सकता हूँ ऐसे करोड़ों लोग हैं जो एक अच्छा सिंगर(Singer) बन सकते हैं, एक्टर(Actor) बन सकते हैं, डांसर(Dancer) बन सकते हैं, क्रिकेटर(Cricketer  बन सकते हैं, रेसलर(wrestler) बन सकते हैं, राइटर(writer) बन सकते हैं, पॉलिटिशियन(Politician) बन सकते हैं और एक अच्छा एन्टेर्प्रेनुएर(Entrepreneur)  बन सकते हैं और भी बहुत कुछ बन सकते हैं लेकिन नहीं बनते क्यों कि रिस्क नहीं लेते और नार्मल(Normal) जिंदगी जीते रहते हैं।

हम सब में कोई न कोई टैलेंट(Talent) है फिर भी हम कुछ नहीं कर पाते क्यों कि हम रिस्क नहीं लेते। हैरान कर देने वाली बात तो ये है कि रिस्क न लेकर भी कोनसा तीर मार देते हैं सारी जिंदगी रोते रहते हैं सोचो आपने  रिस्क लिया और 99% फ़ैल हो गए तो क्या हुआ कम से कम आपने कोशिस तो की सारी जिंदगी रोएंगे तो नहीं ये बोलकर कि काश मैंने ये किया होता तो में ये होता, वो होता। और अगर आपने रिस्क लिया और 1% सफल हो गए तो सोचो आप कहा होंगे आज हम जिनका नाम ले रहे हैं कल उस लिस्ट में आपका नाम होगा।

तो बहतर यही है कि अपनी लिमिट क्रॉस करो और अपनी सोसाइटी, स्कूल, कॉलेज, फ्रेंड्स और लूज़र्स जो फालतू की एडवाइस देते हैं उनकी न सुनकर अपने दिल की सुनो और अपने ड्रीम्स(Dreams) और गोल(Goal) को पूरा करने का रिस्क लो।

Author

Write A Comment

Pin It